Friendship Shayari, Bhid Toh Uccha sunegi dost Shayari - Brain Hack Quotes

Hindi Shayari, Freindship Shayari, Daily Shayari


Hindi Shayari, Freindship Shayari, Daily Shayari

Bhid toh uccha sunegi dost Shayari  


भीड़ तोह उच्चा ही सुनेगी दोस्त। 
मेरी आवाज़ गिर पड़ेगी दोस्त। 
भीड़ तोह उच्चा ही सुनेगी दोस्त। 
मेरी आवाज़ गिर पड़ेगी दोस्त। 
मेरी तकदीर तेरी खिड़की है। 
मेरी तकदीर कब खुलेगी दोस्त। 
मेरा गांव बहुत छोटा है। 
तेरी गाडी नहीं रुकेगी दोस्त। 
दोस्ती ल्ब्जव में दो है दोस्त। 
सिर्फ तेरी नहीं चलेगी दोस्त। 


Apni manjilo se dar na jana,
Rastoo ke parishaniyo se tut na jana,
Jab bhi jarurat ho zindagi me kisi apne ke,
Hum apke apne hai, ye bhul na jana.

मंज़िलो से अपनी डर ना जाना,
रास्ते की परेशानियों से टूट ना जाना,
जब भी ज़रूरत हो ज़िंदगी मे किसी अपने की,
हम आपके अपने है ये भूल ना जाना.

No comments

Powered by Blogger.